Category Archives: Uncategorized

वो

उस का ही हूँ, पर वो गैर समझ रही है, करता हूँ मोहब्बत पर वो बैर समझ रही है निभाने साथ छोडा है मैंने अपना गुरुर थामा है हाथ फिर भी वो पैर समझ रही है चला हुँ साथ-साथ जिंदगी … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

आग

किस की निगाहों तले नफ़रत की आग पल रही है? कोई तो बताओ मुझे दिल्ली क्यूँ जल रही है? बोये थे जो बीज सियासतदानों ने वोट बटोरने, दिलों के खेतों से कत्ल की फसल फल रही है मिट रहा है … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

भीतर-बाहर

लिखते लिखते बहुत कुछ सीखता हुँ, जो हुँ भीतर, बाहर भी वही दिखता हुँ उडने देता हूँ पंछीयों को आजा़द, नील गगन में, घूसते हैं जब औरों के घौंसलों में लकीर तभी खींचता हुँ गुलशन के गुलों को बरबाद होते … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

यूँ चली ना जा

सोया ख़्वाब जगा के यूँ चली ना जा, रातों की नींद चूरा के यूँ चली ना जा इश्क के सहरे में दोनों भटक रहे हैं प्यासे, सराब देख, आश बँधा के यूँ चली ना जा तन्हाईयों में तडपते काली रात … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

wine

Why You have taken away my 😴 sleep? I love u bottom of my heart so deep! Why don’t you care for my emotions? Without your existence stops my life’s all motions! Hey 👶 baby dont keep me more thirsty … Continue reading

Posted in Uncategorized | Leave a comment

શ્વાસ

Posted in Uncategorized | Leave a comment

ख़राब

Posted in Uncategorized | 1 Comment